Skip to content
Home » सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी | Satsang Bhajan Lyrics in Hindi

सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी | Satsang Bhajan Lyrics in Hindi

  • Bhajan

सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी | Satsang Bhajan Lyrics in Hindi :->, ये मन को मोहने वाले सुंदर भजन भक्ति भाव को अंकुर करने वाले है और सत्संग में गा ने वाले है

सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी | Satsang Bhajan Lyrics in Hindi

1 :मेरे सतगुरु जी तुसी मेहर करो 

मेरे सतगुरु जी तुसी मेहर करो,
मैं दर तेरे ते आई हुई या,
मेरे कर्मा वल ना वेखेयो जी,
मैं कर्मा तो शरमाईं हुई या,
मेरे सतगुरु जी तुसी मेहर करो,
मैं दर तेरे ते आई हुई या ।

जो दर तेरे ते आजांदा,
ओह असल खजाने पा जांदा,
मैंनू वी खाली मोड़ी ना,
मैं वी दर ते आस लगाई हुई या,
मेरे कर्मा वल ना वेखेयो जी,
मैं कर्मा तो शरमाईं हुई या ।

तुसी तारणहार कहोंदे हो,
डूबेया नु बन्ने लोंदे हो,
मेरा वी वेडा पार करो,
मैं वी दुःखीयरण आई हुई या,
मेरे सतगुरु जी तुसी मेहर करो,
मैं दर तेरे ते आई हुई या ।

सब संगी साथी छोड़ गये,
सब रिश्ते नाते तोड़ गए,
तू वी किदरे ठुकरावीं ना,
ए सोच के मैं घबराईं हुई या,
मेरे कर्मा वल ना वेखेयो जी,
मैं कर्मा तो शरमाईं हुई या ।

मेरे सतगुरु जी तुसी मेहर करो,
मैं दर तेरे ते आई हुई या,
मेरे कर्मा वल ना वेखेयो जी,
मैं कर्मा तो शरमाईं हुई या,
मेरे सतगुरु जी तुसी मेहर करो,
मैं दर तेरे ते आई हुई या ।

 

2:->सत्संग में बहनों आया करो

सत्संग में बहनों आया करो..2
1-इस सत्संग में गणपति जी आए..2
संग में अपने रिद्धि सिद्धि लाए..2
सीधी का ध्यान लगाया करो सत्संग में ना आया करो।।
सत्संग में..
2-इस सत्संग में ब्रह्मा जी आए..2
संग मैं अपने ब्रह्मणी को लाए..2
वेदों का ध्यान लगाया करो..
सत्संग में बहनों..
3-इस सत्संग में विष्णु जी आए..2
संग में अपने लक्ष्मी जी को लाए..2
लक्ष्मी का ध्यान लगाया करो..2
सत्संग में..
4-इस सत्संग में शंकर जी आए….2
संग में अपने गौरा को लाएं..2
गौरा का ध्यान लगाए करो सत्संग में बहनों आया करो.
सत्संग में…
5-इस सत्संग में रामा जी आए..2
संग में अपने सीता मां को लाए..2्
सत्संग में..
6-इस सत्संग में कृष्णा जी आए…2
संगम अपनी राधा को लाए राधा को ध्यान लगाया करो..2
सत्संग में..
7-इस सत्संग में मैया जी आए..2
संगमा अपने नव दुर्गे लाई नव दुर्गे का ध्यान लगाया करो..
सत्संग में..

3: मैंने तेरे ही भरोसे सद्गुरु आज सागर मैं नैया

मैंने तेरे ही भरोसे सदगुरु आज
सागर में नैया डार दई

काहे की तो नाव बनाई
काहे की पतवार
यमे काहे की जंजीर
सागर में नैया डार दई

हृदय की नाव बनाई
काहे की पतवार
यामे सांसो की जंजीर
सागर में नैया डार दाई

कौन नाव में बैठन हारे
कौन है खेवन हार
याको कौन लगावे बेड़ा पार
सागर में नैया डार दाई

संगत नाव मै बैठन हारे
सत्संग खेवन हार
याको सतगुरु लगावे बेड़ा पार
सागर में नैया डार दई

लाल चुनरिया ओढके
मै तो सदगुरु के ढ़ीग जाऊं
मेरो जन्म सफल हो जाए
सागर में नैया डार दई

सत्संग के भजन लिरिक्स
सत्संग वाले भजन ढोलक पर
ढोलक वाले सत्संग भजन लिरिक्स
ढोलक पर के सत्संग भजन
सत्संग भजन ढोलक के लिरिक्स

सत्संग गीत ढोलक पर
सत्संग के गीत ढोलक वाले
सत्संग के गीत ढोलक के लिरिक्स

ढोलक वाले भजन
ढोलक के गीत
ढोलक पर भजन लिरिक्स
ढोलक पर गीत
ढोलक के गाना

सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी | Satsang Bhajan Lyrics in Hindi

4:-काया तेरी हो गयी पुरानी 

राम भजन करो प्राणी
ये काया तेरी हो गयी पुरानी

इस काया को मल मल धोया
साबुन तेल फुलेल लगाया

मान ले अभिमानी
ये काया तेरी हो गयी पुरानी

इस काया की राख बनेगी
उस पर हरी हरी घास उगेगी

पशु चरे मन मानी
ये काया तेरी हो गयी पुरानी

तुलसी दास आस रघुवर की
आस नही है पल भर छड़ की

मान ले अज्ञानी
ये काया तेरी हो गयी पुरानी

5:->भरदे रे श्याम झोली भरदे ना बहला ओ बातों में Bhajan

​भरदे रे श्याम झोली भरदे,
भरदे, ना बहला ओ बातों में,
ना बहला ओ, बातों में।।​

दिन बीते बीती रातें,
अपनी कितनी हुई रे मुलाकातें,
तुझे जाना पहचाना,
तेरे झूठे हुए रे सारे वादे,
भूले रे श्याम तुम तो भूले,
क्या रखा है बातों में,
​भर दे रे श्याम झोली भरदे।।

नादान है अनजान हैं,
श्याम तू ही मेरा भगवान है,
तुझे चाहूं तुझे पाऊं,
मेरे दिल का यही अरमान है,
पढ़ ले रे श्याम दिल की पढ़ले,
सब लिखा है आंखों में,
​भरदे रे श्याम झोली भरदे।।

मेरी नैया ओ कन्हैया,
पार करदे तू बनके खिवैया,
मैं तो हारा, गम का मारा,
आजा आजा ओ बंशी के बजैया,
लेले रे श्याम अब तो लेले,
लेले, मेरा हाथ हाथों में,
​भर दे रे श्याम झोली भरदे।।

मैं हूं तेरा तू है मेरा,
मैंने डाला तेरे दर पे डेरा,
मुझे आस है विश्वास है,
श्याम भर देगा दामन तु मेरा,
झूमें रे श्याम नन्दू झूमें,
झूमें, तेरी बांहों में,
भर दे रे श्याम झोली भरदे।।

​भरदे रे श्याम झोली भरदे,
भरदे, ना बहला ओ बातों में,
ना बहला ओ, बातों में।।

6:-सतगुरु मैं तेरी पतंग

सतगुरु मैं तेरी पतंग बाबा मैं तेरी पतंग
हवा विच उडदी जावांगी, हवा विच उडदी जावांगी
बाबा डोर हथों छड़ी न मैं कटी जावांगी
सतगुरु मैं तेरी पतंग बाबा मैं तेरी पतंग

बड़ी मुश्किल दे नल मिलिया मैनू तेरा दवारा है , बाबा तेरा दवारा है
मैनू इको तेरा आसरा नाल तेरा सहारा है , बाबा तेरा सहारा है
तेरे ही भरोसे बाबा तेरे ही भरोसे
हवा विच उडदी जावांगी
बाबा डोर हथों छड़ी न मैं कटी जावांगी

सतगुरु मैं तेरी पतंग बाबा मैं तेरी पतंग
हवा विच उडदी जावांगी, हवा विच उडदी जावांगी

ऐना चरना कमला नालो मैनू दूर हटायीं न बाबा दूर हटायीं न
इस झूठे जग दे अंदर मेरा पेंचा लाइ न
जे कट गयीं ता सतगुरु
फिर मैं लुटती जावांगी
फिर मैं लुटती जावांगी

सतगुरु मैं तेरी पतंग बाबा मैं तेरी पतंग
हवा विच उडदी जावांगी, हवा विच उडदी जावांगी

अज्ज मलेया बूहा आके मैं तेरे द्वार दा, बाबा तेरे दवार दा
फिर जनम मरन दे गेडे तो मैं बचती जावांगी
हवा विच उडदी जावांगी, हवा विच उडदी जावांगी

सतगुरु मैं तेरी पतंग बाबा मैं तेरी पतंग
हवा विच उडदी जावांगी, हवा विच उडदी जावांगी
बाबा डोर हथों छड़ी न मैं कटी जावांगी

7:- गोरी गोरी मैया लाल हनुमान, काले काले मेरो भैरवनाथ

गोरी गोरी मैया लाल हनुमान, काले काले मेरो भैरवनाथ -2

कहां रहे मैया कहां हनुमान ,कहां रहे मेरो भैरवनाथ 2..
मंदिर रहे मैया बन हनुमान ,घाटों रहें मेरो भैरव नाथ 2..
गोरी गोरी मैया….

क्या पीवे मैया क्या हनुमान ,क्या पीवे मेरो भैरवनाथ 2..
दूध पिवे मैया जल हनुमान ,दारु पीवे मेरो भैरवनाथ2…
गोरी गोरी मैया…

क्या खावे मैया क्या हनुमान ,क्या खावे मेरो भैरव नाथ 2….
हलवा खा वे मैया फल हनुमान ,खिचड़ी खावे मेरो भैरव नाथ 2…
गोरी गोरी मैया………

-क्या पहने मैया क्या हनुमान ,क्या पहने मेरो भैरवनाथ 2…..
साड़ी पहने मैया लंगोटा हनुमान, काले वस्त्र मेरे भैरव नाथ2…

गोरी गोरी मैया लाल हनुमान, काले काले मेरो भैरवनाथ..4

8:-आने से उसके आए बहार

आने से उसके आए बहार जाने से जिसके जाए बहार 2…
बड़ा सीधा साधा है, मेरा सांवरिया, बड़ा भोला भाला है, मेरा सांवरिया2…

बंसी बजाए ऐसे ,जैसे हो कोई बंसी बजैया2..
देखो तो कौन है वो, पूछो तो कौन है वो 2…
राधा का दीवाना है मेरा सांवरिया 2..
आने से उसके आए बहार जाने से जिसके जाए बहार 2…
बड़ा सीधा साधा है, मेरा सांवरिया, बड़ा भोला भाला है, मेरा सांवरिया2…

गैया चराए ऐसे ,जैसे हो कोई गैया चिरैया 2…
देखो तो कौन है वो ,पूछो कौन है वो2..
राधा का दीवाना है ,मेरा सांवरिया 2…
आने से उसके आए बहार जाने से जिसके जाए बहार 2…
बड़ा सीधा साधा है, मेरा सांवरिया, बड़ा भोला भाला है, मेरा सांवरिया2…

माखन चुराए ऐसे ,जैसे हो कोई माखन चुरेइया2..
देखो तो कौन है वो, पूछो तो कौन है वो 2…
राधा का दीवाना है ,मेरा सांवरिया 2…
आने से उसके आए बहार जाने से जिसके जाए बहार 2…
बड़ा सीधा साधा है, मेरा सांवरिया, बड़ा भोला भाला है, मेरा सांवरिया2…

रास रचाए ऐसे ,जैसे हो कोई रास रचैया2..
देखो तो कौन है वो, पूछो तो कौन है वो2..
राधा का दीवाना है, मेरा सांवरिया2…
आने से उसके आए बहार जाने से जिसके जाए बहार 2…
बड़ा सीधा साधा है, मेरा सांवरिया, बड़ा भोला भाला है, मेरा सांवरिया2…

9 :-मेरी मां का डोला आया lyrics

मेरी मां का डोला आया जयकारा बोलो गली गली..2

मां आई आसन बैठ गई, मैंने ऐसे चरण धुलाऐ
गंगाजल हो गया गली गली..2
मेरी मां का…

-मां आई आसन बैठ गई, मैंने ऐसा दीप जलाया उजियारा हो गया गली गली..2
मेरी मां का…

-मां आई आसन बैठ गई मैंने ऐसा तिलक लगाया. रंगोली हो गए गली गली..2
मेरी मां का…

-मां आई आसन बैठ गई मैंने ऐसे फूल चढ़ाएं फुलवारी हो गई गली गली..2
मेरी मां का….

-मां आई आसन बैठ गई मैंने ऐसा भोग लगाया भंडारा हो गया गली गली..2
मेरी मां का…

मां आई आसन बैठ गई मैंने ऐसे भजन सुनाए जगराता हो गया गली गली..2

1

10:-हरे तीन पत्तों में क्या बल है

हरे तीन पत्तों में क्या बल है,
जिसमें भोला मगन है-२
शरयू मगन है गोमती मगन है, गंगा में ऐसा क्या बल है जिसमें भोला मगन है-२

हरे तीन पत्तों में…….

सूरज मगन है, तारे मगन है, चंदा में ऐसा क्या बल है जिसमें भोला मगन है-२
हरे तीन पत्तों में……..

बिच्छू मगन है, ततैया मगन है, नागो में ऐसा क्या बल है जिसमें भोला मगन है-२
हरे तीन पत्तों में……..

ढोलक मगन है, मंजीरा मगन है, डमरु में ऐसा क्या बल है जिसमें भोला मगन है-२
हरे तीन पत्तों में………

लड्डू मगन है, पेड़ा मगन है, भांग धतूरे में क्या बल है जिसमें भोला मगन है-२
हरे तीन पत्तों में………..

सालों मगन है, दुशाला मगन है, बागम्बर में ऐसा क्या बल है जिसमें भोला मगन है-२
हरे तीन पत्तों में………

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.