Skip to content
Home » नवरात्रे है जब आते | Navratre Hai Jab Aate Lyrics

नवरात्रे है जब आते | Navratre Hai Jab Aate Lyrics

नवरात्रे है जब आते | Navratre Hai Jab Aate Lyrics :- नवरात्रों में मां के भक्तों इस भजन को बड़ी चा से सुनते हैं। इसको सुनने मात्र मां भगवती के भक्तों के मन को आनंद मिलता है।

नवरात्रे है जब आते | Navratre Hai Jab Aate Lyrics

नवरात्रे है जब आते
सब मैया के गुण गाते

नवरात्रे है जब आते
सब मैया के गुण गाते
हँसते गाते ढोल बजाते
सब है ये ही कहते

माँ के दर जाना है
जी माँ के दर जाना है

नवरात्रे है जब आते
पर्वत पर मेले लगते
नवरात्रे है जब आते
पर्वत पर मेले लगते

माँ के जयकारे बोल के प्यारे,
सब है ये ही कहते ।
माँ के दर जाना है,
जी माँ के दर जाना है

खो कर के मांगी धूनी
कर जाप उसी का गण में
हर भक्त यही है कहता,
मेरी माँ बसी कण कण में

जय माता दी, जय माता दी …..

जो सर्व कलाओं में है
जो कल्प लताओं में है
जब अंतर मन से देखे
वो दसो दिशाओं में है

बोल के उसकी जय
सब है ये ही कहते
माँ के दर जाना है
जी माँ के दर जाना है

नवरात्रे है जब आते
सब मैया के गुण गाते

जब करेंगे माँ का दर्शन
हो जायेगा शीतल तन मन
सब सिद्ध मनोरथ होंगे
ना दुःख के रहेंगे बंधन

जय माता दी. जय माता दी

हो जायेगा हर सुख हासिल
कदमो में होगी मंज़िल
आसान करेगी पल में माँ
सौ जन्मो की मुश्किल

बोल के उसकी जय
इसीलिए सभी कहते
माँ के दर जाना है
जी माँ के दर जाना है

नवरात्रे है जब आते
पर्वत पर मेले लगते
माँ के जयकारे बोल के प्यारे
सब है ये ही कहते

माँ के दर जाना है
जी माँ के दर जाना है

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.