Skip to content
Home » मेरी सास के 5 पुत्र थे | Meri Saas Ke Panch Putra the lyrics

मेरी सास के 5 पुत्र थे | Meri Saas Ke Panch Putra the lyrics

  • Bhajan

मेरी सास के 5 पुत्र थे | Meri Saas Ke Panch Putra the lyrics :->यह सूंदर सांग harayanvi cultural song हैं इस से गाना हरियाणा का बड़ा ही प्रसिद्ध है

मेरी सास के 5 पुत्र थे | Meri Saas Ke Panch Putra the lyrics

ओ बाबा तेरी क्या ही बात है,
भोले शंकरा तेरी क्या ही बात है ।
दूर होके भी तू साथ है,
ओ दूर होके भी तू साथ है ।।

खुद को मैं करदूंगा तुझको समर्पण,
मैं तेरा आंसू हूँ तू मेरा दर्पण ।
तेरे ही होने से मेरी ये सारी जिंदगी सधी है ।।

लागी मेरी तेरे संग लगी मेरे शंकरा ।
लागी मेरी तेरे संग लगी मेरे शंकरा ।।

लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा ।
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा ।।

तू पिता है मेरा और तुहि रहेगा,
मेरी हर गलती को तू हंस के सहेगा ।
तेरे ताप से मन का उड़ गया है पंछी,
सब तेरी बदौलत है आज ये रघुवंशी ।।

तुहि सूक्ष्म है और तुहि विशाल है,
तू ही उत्तर है और तुहि सवाल है ।
तुहि सत्य है बाकी जिंदगी विनाश की है ।।

ओ बाबा तेरी क्या ही बात है,
भोले शंकरा तेरी क्या ही बात है ।
दूर होके भी तू साथ है,
ओ दूर होके भी तू साथ है ।।

खुद को मैं करदूंगा तुझको समर्पण,
मैं तेरा आंसू हूँ तू मेरा दर्पण ।
तेरे ही होने से मेरी ये सारी जिंदगी सधी है ।।

लागी मेरी तेरे संग लगी मेरे शंकरा ।
लागी मेरी तेरे संग लगी मेरे शंकरा ।।

लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा ।
लागी मेरी प्रीत तेरे संग मेरे शंकरा ।।

तू पिता है मेरा और तुहि रहेगा,
मेरी हर गलती को तू हंस के सहेगा ।
तेरे ताप से मन का उड़ गया है पंछी,
सब तेरी बदौलत है आज ये रघुवंशी ।।

तुहि सूक्ष्म है और तुहि विशाल है,
तू ही उत्तर है और तुहि सवाल है ।
तुहि सत्य है बाकी जिंदगी विनाश की है ।।

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.