Skip to content
Home » यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ |Yahan Wahan Jahan Tahan

यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ |Yahan Wahan Jahan Tahan

यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ |Yahan Wahan Jahan Tahan :->ये सुंदर भजन सन 1975 जय मां संतोषी में गया है।ये भजन मां संतोषी के भक्तों में आदिक्त्र गायन करने वाला भजन है |

यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ |Yahan Wahan Jahan Tahan| Maa Santoshi bhajan

Yahan Wahan Jahan Tahan lyrics in hindi

यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ,
मत पूछो कहाँ-कहाँ,
है सँतोषी माँ
अपनी सँतोषी माँ
अपनी सँतोषी माँ ।
जल में भी थल में भी
चल में अचल में भी
अतल वितल में भी माँ ।
अपनी सँतोषी माँ
अपनी सँतोषी माँ ।

बड़ी अनोखी चमत्कारिणी,
ये अपनी माई
राई को पर्वत कर सकती,
पर्वत को राई
द्धार खुला दरबार खुला है,
आओ बहन भाई
इस के दर पर कभी,
दया की कमी नहीं आई
पल में निहाल करे,
दुःख का निकाल करे,
तुरंत कमाल करे माँ ।
अपनी सँतोषी माँ,
अपनी सँतोषी माँ ।

हाँ वहाँ जहाँ तहाँ,
मत पूछो कहाँ-कहाँ,
है सँतोषी माँ
अपनी सँतोषी माँ,
अपनी सँतोषी माँ ।

इस अम्बा में जगदम्बा में,
गज़ब की है शक्ति
चिंता में डूबे हुय लोगो,
कर लो इस की भक्ति
अपना जीवन सौंप दो इस को,
पा लो रे मुक्ति
सुख सम्पति की दाता ये माँ,
क्या नहीं कर सकती
बिगड़ी बनाने वाली,
दुखड़े मिटाने वाली,
कष्ट हटाने वाली माँ ।
अपनी सँतोषी माँ,
अपनी सँतोषी माँ ।

हाँ वहाँ जहाँ तहाँ,
मत पूछो कहाँ-कहाँ,
है सँतोषी माँ
अपनी सँतोषी माँ,
अपनी सँतोषी माँ ।

गौरी सुत गणपति की बेटी,
ये है बड़ी भोली
देख – देख कर इस का मुखड़ा,
हर इक दिशा डोली
आओ रे भक्तो ये माता है,
सब की हमजोली
जो माँगोगे तुम्हें मिलेगा,
भर लो रे झोली
उज्जवल-उज्जवल,
निर्मल-निर्मल,
सुन्दर-सुन्दर माँ ।
अपनी सँतोषी माँ,
अपनी सँतोषी माँ ।

हाँ वहाँ जहाँ तहाँ,
मत पूछो कहाँ-कहाँ,
है सँतोषी माँ
अपनी सँतोषी माँ,
अपनी सँतोषी माँ ।

Yahan Wahan Jahan Tahan lyric in English

yahaan vahaan jahaan tahaan,
mat poochho kahaan-kahaan,
hai santoshee maan !
apanee santoshee maan,
apanee santoshee maan .
jal mein bhee thal mein bhee,
chal mein achal mein bhee,
atal vital mein bhee maan .
apanee santoshee maan,
apanee santoshee maan .

badee anokhee chamatkaarinee,
ye apanee maee
raee ko parvat kar sakatee,
parvat ko raee
ddhaar khula darabaar khula hai,
aao bahan bhaee
is ke dar par kabhee,
daya kee kamee nahin aaee
pal mein nihaal kare,
duhkh ka nikaal kare,
turant kamaal kare maan .
apanee santoshee maan,
apanee santoshee maan .

haan vahaan jahaan tahaan,
mat poochho kahaan-kahaan,
hai santoshee maan !
apanee santoshee maan,
apanee santoshee maan .

is amba mein jagadamba mein,
gazab kee hai shakti
chinta mein doobe huy logo,
kar lo is kee bhakti
apana jeevan saump do is ko,
pa lo re mukti
sukh sampati kee daata ye maan,
kya nahin kar sakatee
bigadee banaane vaalee,
dukhade mitaane vaalee,
kasht hataane vaalee maan .
apanee santoshee maan,
apanee santoshee maan .

haan vahaan jahaan tahaan,
mat poochho kahaan-kahaan,
hai santoshee maan !
apanee santoshee maan,
apanee santoshee maan .

gauree sut ganapati kee betee,
ye hai badee bholee
dekh – dekh kar is ka mukhada,
har ik disha dolee
aao re bhakto ye maata hai,
sab kee hamajolee
jo maangoge tumhen milega,
bhar lo re jholee
ujjaval-ujjaval,
nirmal-nirmal,
sundar-sundar maan .
apanee santoshee maan,
apanee santoshee maan .

haan vahaan jahaan tahaan,
mat poochho kahaan-kahaan,
hai santoshee maan !
apnee santoshee maan,
apnee santoshee maan .

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.