Skip to content
Home » हारे का तू है सहारा सांवरे | Hare Ka Tu Hai Sahara Lyrics

हारे का तू है सहारा सांवरे | Hare Ka Tu Hai Sahara Lyrics

bhajan

हारे का तू है सहारा सांवरे | Hare Ka Tu Hai Sahara Lyrics :->कृपया ऐसे भजन के अपने  अपने परिवार और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें धन्यवाद

हारे का तू है सहारा सांवरे | Hare Ka Tu Hai Sahara Lyrics

हारे का तू है सहारा सांवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे
हारे का तू है सहारा साँवरे
हमने भी तुझको पुकारा साँवरे
नहीं और सहा जाए
हम बोल कहाँ जाये
हारे का तू है सहारा सांवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे।

हमे अपनी आँखों से दूर नहीं करना
हम रो पड़ेंगे मज़बूर नहीं करना
अपनों के सताए हैं
तेरी शरण में आये हैं
हारे का तू है सहारा सांवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे।

हम है कितने हारे परछाई कह रही है
आँखों से दिल की सच्चाई बह रही है
ये नीर जो बहता है
रो रो के कहता है
हारे का तू है सहारा सांवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे।

कितने भी हमपे हँसे ये ज़माना
संजू कन्हैयाँ से नाता है पुराना
संतोष यही मन में तुम हो मेरे जीवन में
हारे का तू है सहारा सांवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे।

हारे का तू है सहारा साँवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे
हारे का तू है सहारा साँवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे
नहीं और सहा जाए
हम बोल कहाँ जाये
हारे का तू है सहारा सांवरे
हमने भी तुझको पुकारा सांवरे।

Read also

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *