Home » वक्रतुण्डा महाकाय मंत्र|vakratunda mahakaya mantra

वक्रतुण्डा महाकाय मंत्र|vakratunda mahakaya mantra

  • Stotram
वक्रतुण्डा_महाकाय_मंत्र_vakratunda_mahakaya_mantra

वक्रतुण्डा महाकाय मंत्र|vakratunda mahakaya mantra :–>यह मंत्र भगवान गणेश जी का है यह प्रथम मंत्र है किसे भी पूजा में बोलने वाला | इसका बिना कोई व् कार्य पूजा सफल नहीं है | यह परम् गणपति मंत्र विग्नेश्वर के नाम से व् जाना जाता है | घेर से निकलने से पहला इसका पथ क्र लेना चाहिए | ताकि हमारे सभी काम मंगल पुर्बक सफल हो |

वक्रतुण्डा महाकाय मंत्र|vakratunda mahakaya mantra lyrics

श्री वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटी समप्रभा।
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्व-कार्येशु सर्वदा॥

Shree Vakratunda Mahakaya Suryakoti Smaprabha।
Nirvighnam Kuru Me Deva Sarva-Kaaryeshu Sarvada॥


अर्थ :->हे घुमावदार सूंड और विशाल शरीर के भगवान गणेश, जिनकी महिमा लाखों सूर्यों के बराबर है, कृपया मुझे आशीर्वाद दें कि मुझे अपने प्रयासों में किसी भी बाधा का सामना न करना पड़े।

वक्रतुण्डा महाकाय मंत्र शब्द भावार्थ

वक्रतुंडा - घुमावदार सूंड
महाकाया - विशाल रूप
सूर्य - सूर्य।
कोटि - अरब
समा - समान
प्रभा - वैभव
निर्विघ्नम - कोई बाधा नहीं
कुरुमे - मुझे दे दो
देव - गोदी
सर्व - sab kuch 
कार्येशु - प्रयास
सर्वदा - हमेशा

Click left click to download the Image below

वक्रतुण्डा_महाकाय _मंत्र_vakratunda mahakaya_mantra_img

Read Also- यह भी जानें

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *