Skip to content
Home » सुन मेरी देवी पर्वतवासनी | Sun Meri Devi Parvat Vasini

सुन मेरी देवी पर्वतवासनी | Sun Meri Devi Parvat Vasini

  • Aarti

सुन मेरी देवी पर्वतवासनी | Sun Meri Devi Parvat Vasini :->यह सुंदर Mata rani bhajan भक्ति भावना को बढ़ाने वाला है | यह भजन भगवान के श्री चरणों के प्रति पैदा करने के लिए  है| कृपया ऐसे भजन के अपने  परिवार और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें धन्यवाद|

सुन मेरी देवी पर्वतवासनी | Sun Meri Devi Parvat Vasini

सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया||

पान सुपारी ध्वजा नारियल
ले तेरी भेंट चडाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया||

सुवा चोली तेरी अंग विराजे
केसर तिलक लगाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया||

नंगे पग मां अकबर आया
सोने का छत्र चडाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया||

ऊंचे पर्वत बनयो देवालाया
निचे शहर बसाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया||

सत्युग, द्वापर, त्रेता मध्ये
कालियुग राज सवाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया||

धूप दीप नैवैध्य आर्ती
मोहन भोग लगाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
कोई तेरा पार ना पाया||

ध्यानू भगत मैया तेरे गुन गाया
मनवंचित फल पाया
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी
सुन मेरी देवी पर्वतवासनी ||

Read also

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *