Skip to content
Home » मनिहारी का भेष श्याम | Mahihari Ka Bhesh Banaya Lyrics 

मनिहारी का भेष श्याम | Mahihari Ka Bhesh Banaya Lyrics 

मनिहारी का भेष श्याम | Mahihari Ka Bhesh Banaya Lyrics     :->यह सुंदर krishna bhajan भक्ति भावना को बढ़ाने वाला है | यह भजन भगवान के श्री चरणों के प्रति preeti पैदा करने के लिए  है| कृपया ऐसे भजन के अपने  अपने परिवार और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें धन्यवाद|

मनिहारी का भेष श्याम | Mahihari Ka Bhesh Banaya Lyrics 

झोली कंधे धरी, उसमें चूड़ी भरी
गलियों में शोर मचाया, श्याम चूड़ी बेचने आया
मनिहारी का भेष श्याम चूड़ी बेचने आया||

राधा ने सुनी, ललिता से कही
मोहन को तुरन्त बुलाया, श्याम चूड़ी बेचने आया
मनिहारी का भेष श्याम चूड़ी बेचने आया||

चूड़ी लाल नहीं पहनूँ, चूड़ी हरी नहीं पहनूँ
मुझे श्याम रंग है भाया, श्याम चूड़ी बेचने आया
मनिहारी का भेष श्याम चूड़ी बेचने आया||

राधा पहनन लगी, श्याम पहनाने लगे
राधा ने हाथ बढ़ाया, श्याम चूड़ी बेचने आया
मनिहारी का भेष श्याम चूड़ी बेचने आया||

राधा कहने लगी, तुम हो छलिया बड़े
धीरे से हाथ दबाया, श्याम चूड़ी बेचने आया
मनिहारी का भेष श्याम चूड़ी बेचने आया ||

Shyam Chudi Bechne Aaya

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *