Skip to content
Home » ओ मइयां जी किरपा करो | O Maiya Ji Kirpa Karo Lyrics

ओ मइयां जी किरपा करो | O Maiya Ji Kirpa Karo Lyrics

ओ मइयां जी किरपा करो | O Maiya Ji Kirpa Karo Lyrics :-> मां भगवती का यह भजन भक्ति भावना को बढ़ाने वाला है और मां के श्री चरणों के प्रति प्रेम को पैदा  करने वाला है।

ओ मइयां जी किरपा करो | O Maiya Ji Kirpa Karo Lyrics

ओ मइयां जी किरपा करो
मेरे अवगुण चित न धरो
ओ मइया जी विनती सुनो
मेरी विपदाये दूर करो ||

हाथो में पतवार धरो
बीच भवर से पार करो
ओ मइयां जी किरपा करो
मेरे अवगुण चित न धरो ||

इक तेरा ही आसार है
तू करदे एक इशारा
जो तू चाहे पलट जाये
समय की बहती धारा ||

उलझी लड़ियाँ खोल दे
बिखरी कड़ियाँ खोल दे
मुझपे माँ उपकार करो
मेरी अर्ज पे ध्यान धरो ||

ओ मइयां जी किरपा करो
मेरे अवगुण चित न धरो ||

शरण तेरी अर्ज मेरी
हास की ज्योत जली है
किरपा तेरी हुई जब भी
तो हर मुश्किल टली है ||

ये विश्वास तेरा ना टूटे
साथ तेरा ना छूटे
आये संकट क्षण में हरो
अंधेरो को दूर करो ||

ओ मइयां जी किरपा करो
मेरे अवगुण चित न धरो ||

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.