Home » माता चिंतपूर्णी जी आरती |Mata Chintpurni Ji Aarti

माता चिंतपूर्णी जी आरती |Mata Chintpurni Ji Aarti

  • Aarti
माता_चिंतपूर्णी_जी_आरती_ |Mata_Chintpurni_Ji_Aarti

माता चिंतपूर्णी जी आरती |Mata Chintpurni Ji Aartiमाता चिंतपूर्णी जी का शक्ति पीठ हिमाचल के डिस्ट्रिक्ट :- उना में स्तिथ है | चिंतपूर्णी माँ को छिन्नमस्तिका के नाम से व् जाना जाता है | माता जी ५१ शक्ति पीठ में से है | माना जी का जनम दिवस हर साल 26 मई को मनाया जाता है | माना जाता है यहाँ माता सती जी के चरण गिरे थे|

माता चिंतपूर्णी जी आरती |Mata Chintpurni Ji Aarti

जै चिन्त्पुर्णी माता, चिन्ता हरो माता |
जीवन मेँ सुख दे दो, कश्ट हरो माता ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

ऊन्चा पर्वत तेरा, झ्न्डे झूल रहे |
करेँ आरती सारे, मन मेँ फूल रहे ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

सती के शुभ चरणोँ पर, मन्दिर है भारी |
छिन्न मस्तिका कह्ते, सारे सन्सारी ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

माईदास एक ब्राह्मण, स्वपन मेँ दरस दिये |
पूजा पिन्डी ध्यान कर, आनन्द भाव किये ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

बरगद पेड है दर पर, सुख भंडार भरे |
घन्टे घन घन बाजे, जय जय कार करेँ ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

कन्या गाती दर पे, मधुर स्वरोँ मेँ जब |
जिन्को सुन के, चिन्ता, मन की हटे माँ सब ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

पान सुपारी ध्वजा नारियल, छ्त्र चुन्नी संग मेँ|
चन्दन इत्र गुलाब जल, भेंट चढे अंग में ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

चिन्तित जीवन की माँ, तुम हो रख वाली |
सेवक आरती करता, कर मेँ लिये थाली ||
ॐ जय चिन्त्पुर्णी माता…

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *