Skip to content
Home » कीर्तन की है रात |kirtan ki hai raat lyrics

कीर्तन की है रात |kirtan ki hai raat lyrics

Kabhi_Ram_Banke_Kabhi_shyam_Banke

कीर्तन की है रात |kirtan ki hai raat lyrics:—->यह सूंदर भजन कीर्तन की है रात सिंगर मुकेश बगड़ा जी द्वारा गायन किया गया है | इसमें सेवा भाब प्रभु की प्रति जोह है उसको व्यक्त किया गया है |सूंदर भजन की सूंदर पंक्तिया भगवान के प्रति आस्था और प्रेम और बदह देता है |

कीर्तन की है रात |kirtan ki hai raat lyrics

कीर्तन की है रात बाबा आज ठाणे आणो है ।
थारे कोल निभानु हे

दरबार सावरिया, ऐसो सजो प्यारो, दयालु आप को|
सेवा में सावरिया, सगला खड़ा डिगे, हुकम बस आप को|
सेवा में थारी म्हणे आज बिछ जणू हे, थारे कोल निभानु हे|

कीर्तन की है रात बाबा आज ठाणे आणो है ।
थारे कोल निभानु हे||

कीर्तन की है तैयारी, कीर्तन करा जमकर, प्रभु क्यु देर करो,
वादों थारो दाता, कीर्तन में आने को, घणी मत देर करो,
भजनासु ठाणे म्हणे आज रिझाणु है, थारे कोल निभानु हे||

कीर्तन की है रात बाबा आज ठाणे आणो है ।
थारे कोल निभानु हे||

जो कुछ बनो म्हासु, अर्पण परभू सारो, प्रभु स्वीकार करो,
नादाँ सु गलती होती ही आई है, ब्रभु मत ध्यान धरो,
नंदू सावरिया थानों दास पुरानो है, थारे कोल निभानु हे||

कीर्तन की है रात बाबा आज ठाणे आणो है ।
थारे कोल निभानु हे||

Bhajan: Kirtan Ki Hai Raat
Album: Mere Shyam Chale Aao
Singer: Mukesh Bagda
Label: Yuki

Read Also- यह भी जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.